अम्ल, क्षार व लवण – Acids, Bases and Salts

Acids/अम्ल

ऐसा यौगिक जो जल में घुलकर H+ आयन देता है तथा जो किसी दूसरे पदार्थ को प्रोटोन प्रदान करने की क्षमता रखता है Acids कहलाता है।

अम्ल के गुण/Properties of Acids

  1. अम्ल स्वाद में खट्टे होते हैं।
  2. अम्ल का जलीय विलयन नीले लिटमस को लाल कर देता है।
  3. इनके जलीय विलयन विद्युत के चालक होते हैं।

 

Uses of Acids/अम्लों के उपयोग

दैनिक जीवन में खाने में तथा पेय पदार्थों में Acids का उपयोग होता हैं

जैसे :

  अंगूर टार्टरिक अम्ल
  नींबू व नारंगी सिट्रिक अम्ल
  चींटी फॉर्मिक अम्ल
  सिरका एवं अचार एसीटिक अम्ल
  दूध लेक्टिक अम्ल
  सेब मैलिक अम्ल
  Tomato Oxalic acid
  Tamarind/इमली Tartaric acid

 

  • ऑक्सेलिक अम्ल का उपयोग कपड़े से जंग के धब्बे हटाने में तथा फोटोग्राफी में किया जाता है।
  • नाइट्रिक अम्ल का प्रयोग सोना व चांदी के शुद्धिकरण में किया जाता है।
  • HCL भोजन के पाचन में मदद करता है।
  • H2SO4 व HNO3 का प्रयोग उर्वरक व दवाओं को बनाने में किया जाता है।

 

प्रबल अम्ल एवं दुर्बल अम्ल  

प्रबल अम्ल दुर्बल अम्ल   
– वे अम्ल जो पूर्ण रूप से आयनीकृत होकर H+ आयन देते हैं ।

– अधिकांश अकार्बनिक अम्ल

– वे अम्ल जो पूर्ण रूप से आयनीकृत नहीं होते तथा बहुत कम H+ आयन देते हैं ।

– अधिकांश कार्बनिक अम्ल

 

Q. प्रबल अम्ल कौन – कौन से हैं ?
Ans. H2SO4, HCL, HNO3

Q. दुर्बल अम्ल कौन – कौन से हैं ?
Ans. HCOOH, CH3COOH, H2CO3

 

 

क्षार(Bases)

ऐसे यौगिक को अम्ल से Reaction करके लवण व जल देता है तथा जिनमे प्रोटोन ग्रहण करने की प्रवृत्ति हो तथा जल में घुलने से OH-(हाइड्रॉक्सिल) आयन देता हो, क्षार कहलाता है।

Properties of Bases

  1. क्षार स्वाद में कड़वा होता है ।
  2. यह लाल लिटमस पत्र को नीला कर देता है।
  3. इनके जलीय विलयन में भी विद्युत प्रवाह हो सकता है।
  4. क्षार, फिनॉफ़्थैलीन को गुलाबी तथा मिथाईल ऑरेंज को पीला कर देते हैं।

 

Uses of Bases/क्षार के उपयोग

–  कास्टिक सोडा(NaOH) का उपयोग साबुन बनाने में किया जाता है।

– पेट की अम्लीयता को दूर करने में मिल्क ऑफ मैग्नीशिया [Mg(OH)2] का प्रयोग किया जाता है।

– Ca(OH)2 का उपयोग ब्लीचिंग निर्माण में किया जाता है।

प्रबल क्षार   दुर्बल क्षार  
NaOH, NH4OH,
KOH Ca(OH)2,
Mg(OH)2

 

प्रबल क्षार  – 

ऐसे क्षार जो जलीय विलयन में लगभग पूर्ण वियोजित हो कर ज्यादा मात्रा OH- आयन (हाइड्रॉक्सिल आयन्स) देते हैं, प्रबल क्षार कहलाते हैं, जैसे-  NaOH, KOH आदि।

दुर्बल क्षार  –

ये जलीय विलयन में कम मात्रा में OH- आयन (हाइड्रॉक्सिल आयन्स) देते हैं, जैसे- NH4OH, Ca(OH)2, Mg(OH)2

 

लवण (Salt)

अम्ल (Acid) एवं क्षार (Base) की अभिक्रिया से लवणों का निर्माण होता है, इस क्रिया में जल भी बनता है तथा इसे उदासीनीकरण अभिक्रिया भी कहते हैं।

 

Uses of Salts/लवण के उपयोग :-

– NaCl साधारण नमक, बनाने में उपयोगी होता है।

– Na2​CO3​.1OH2​O सोडियम कार्बोनेट (धोने का सोडा) बनाने में उपयोगी।

– 3NaHCO3​, 3 सोडियम बाई कार्बोनेट (खाने का सोडा) बनाने में उपयोगी।

 

Difference between Acids and Bases

Acids Bases
1. Acid जल में घोल जाने पर हाइड्रोजन आयन देते हैं  

BASE जल में घोल जाने पर हाइड्रोक्सिल आयन देते हैं

2. Acid नीले लिटमस पत्र को लाल कर देते हैं। Bases लाल लिटमस पत्र को नीला कर देते हैं।
3. Acid स्वाद में खट्टे होते हैं स्वाद में कड़वे होते हैं।
4. इनकी PH Value 1 से 7 के बीच होती है। इनकी PH Value 7 से 14 के बीच होती है।

 

 

pH किसे कहते हैं ?

pH मूल्य किसी पदार्थ की अम्लीयता और क्षारीयता का माप है।

– pH स्केल वह स्केल है, जो किसी विलयन में उपस्थित हाइड्रोजन आयन की सांद्रता ज्ञात करने के लिए प्रयुक्त किया जाता है।

pH स्केल सारेन्सन ने प्रस्तुत की।

– इस स्केल से सामान्यत: 0 (अधिक अम्लता) से 14 (अधिक क्षारीय) तक PH को ज्ञात कर सकते है।

– हाइड्रोनियम आयन की सान्द्रता जितनी अधिक होगी उसका pH उतना ही कम होगा।

– किसी विलयन में उपस्थित हाइड्रोजन आयन की सान्द्रता (मोल प्रति लीटर में) के ऋणात्मक 10 आधारीय लघुगुणकीय मान को PH कहते हैं।

 

अम्लीय विलयन का pH pH < 7
क्षारीय विलय का pH pH > 7
उदासीन विलयन का pH pH = 7

 

दैनिक जीवन में pH का महत्व 

– विभिन्न विलयन जिनका हम दैनिक जीवन मे उपयोग करते है, उनका pH नियत बना रहे  तो वे पदार्थ या विलयन अपनी सामान्य क्रियाएँ कर पाते है।

– मुँह का pH का मान 5.5 से कम होने पर दाँतों का क्षय शुरू हो जाता है, जो दाँतो के इनैमल यानि कैल्शियम फॉस्फेट को संक्षारित करता है दन्तमंजन क्षारीय होते है जो इसे उदासीन बनाते है।

दूध की pH 6.7 होती है,यदि दूध को कुछ समय तक बिना उबाले रखा जाये तो  कुछ समय बाद pH कम होने लगती है, जिससे कुछ समय बाद दूध फट जाता है।इसे स्थिर रखने के लिए NaHCO3 मिलाया जाता है, जो बफर पदार्थ के रूप में कार्य करता है, जो कि विलयन की pH स्थिर बनाये रखते है।

– कोल्ड ड्रिंक मे भी कार्बोनिक अम्ल पाया जाता है जो pH को अम्लीय बनाये रखता है।

– मधुमक्खी या चींटी के डंक में फॉर्मिक अम्ल होता है, प्रभावित अंग पर बैकिंग सोडा या कैलेमाइन (जिंक कार्बोनेट) जैसे क्षारक से आराम मिलता है।

 

 

Frequently Asked Questions – FAQs

Q. प्रबल अम्ल कौन - कौन से हैं ?
Ans. H2SO4, HCL, HNO3
Q. दुर्बल अम्ल कौन - कौन से हैं ?
Ans. HCOOH, CH3COOH, H2CO3
Q. प्रबल क्षार कौन - कौन से हैं ?
Ans. NaOH, KOH
Q. दुर्बल क्षार कौन - कौन से हैं ?
Ans. NH4OH, Ca(OH)2, Mg(OH)2

Q. Name the acids present in the following:
(i) Tomato  (ii) Vinegar (iii) Tamarind (iv)Apple
Answer. (i) Oxalic acid (ii) Acetic acid (iii) Tartaric acid (iv) Malic acid

(i) Tomato (i) Oxalic acid
(ii) Vinegar (ii) Acetic acid
(iii) Tamarind (iii) Tartaric acid
 (iv)Apple (iv) Malic acid
Q. दूध में कौन सा अम्ल/Acid पाया जाता है?
लैक्टिक अम्ल
Q.गेहूं में कौनसा अम्ल पाया जाता है? 
- ग्लूटेमिक अम्ल (Glutamic acid)
Q.मूत्र में कौनसा अम्ल पाया जाता है? 
– यूरिक अम्ल (Uric acid)
Q.लहसुन में कौनसा अम्ल पाया जाता है? 
– ऐलिसिन अम्ल (Allicin acid)
Q.मक्खन में कौनसा अम्ल पाया जाता है? 
– ब्यूटेरिक अम्ल (Butyric acid)
Q. What is Aquarizia?
- A mixture of concentrated Nitric Acid/HNO3 and Hydrochloric acids/HCL.
Q. Aquarizia Ratio /Royal water
- ratio of 1:3 HNO3:HCL

Q.प्याज/Onion में कौन सा अम्ल पाया जाता है?
– प्याज में एमीनो एसिड सल्फॉक्साइड और सल्फेनिक एसिड नाम के केमि‍कल होते हैं जो मिलकर प्रोपैनथियॉल एस-ऑक्साइड बनाते हैं. इस कंपाउंड की तीखी भाप के कारण हमारे आंखों में जलन पैदा हो जाती है

Chemistry Links!

पदार्थ की अवस्थाएं रासायनिक यौगिक व सूत्र
पदार्थो का वर्गीकरण भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन
बहुलक क्या है – Polymers ? कार्बन परमाणु
हरित ग्रह प्रभाव क्या है -What Is Greenhouse Effect?

 

 

Chemistry Practice Set

CTET EXAM Chemistry Practice SetsPdf Order Now

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment