Blood/रक्त/रुधिर/खून 

 

प्लाज्मा (55%) + रुधिर कणिका (45%)

रक्त मनुष्यों और अन्य जानवरों में एक शरीर का तरल पदार्थ है जो कोशिकाओं में पोषक तत्वों और ऑक्सीजन जैसे आवश्यक पदार्थों को वितरित करता है और उन्हीं कोशिकाओं से चयापचय अपशिष्ट उत्पादों (metabolic waste products) को स्थानांतरित करता है।

 

 

 
 
 
 

 रक्त एक तरल संयोजी ऊतक (Fluid Connective Tissue) है यानि यह Liquid Form में शरीर में बहता है Blood रुधिर वाहिनियो/नलिकाओं में बहता है।

 

तथा  यह शरीर के सभी अंगों , ऊतकों (Tissue) तक oxygen, nutrients और Hormons का परिवहन करता है तथा अंगो से अपशिष्ट पदार्थों को Remove करता है ।
सभी अंगों से connect रहने के कारण इसे संयोजी ऊतक कहा जाता है।

 

Blood and blood composition -: 

रक्त का निर्माण -: 

 

 



रक्त कोशिकाओं का निर्माण  Long Bones (लंबी हड्डियां जो होती है ) की Bone marrow (अस्थि मज्जा ) में होता है।
अस्थि मज्जा के अंदर Cavity (गुहा) पायी जाती है जंहा रक्त कोशिकाओं का निर्माण होता है।
यह प्रकिया Hemopoiesis (Hemetopoiesis) कहलाती है।

 

 

About blood ~

 

BLOOD का p.H

लगभग 7.35 and 7.45 (क्षारीय)

 

रक्त की मात्रा

लगभग 5-6 लीटर ( यह हमारे शरीर के weight का लभगभ 8% होता है।)

जैसे  – किसी मानव का वजन 70 kg है तो उसके अंदर रक्त की मात्रा लगभग 5600 ml (5.6L) होगी।

 

रक्त (Bloodके कार्य

 

1. उत्सर्जी पदार्थों को बाहर करना जैसे- यूरिया, कार्बनडाई आक्साइड, लैक्टिक अम्ल आदि। रक्त kidney के अंदर प्रवेश करता है जंहा पर Blood के प्लाज्मा से
nitrogenous waste  को Filter किया जाता है।

2. शरीर का ताप नियंत्रित करने में सहायक ।

3. रक्त फेफड़ों (Lungs) से ऑक्सीजन लेकर इसे शरीर की अन्य कोशिकाओं तक पहुँचाता है ।

4. अन्तःस्रावी ग्रन्थियों द्वारा स्रावित Hormons को अंगों तथा उतकों तक पँहुचाता है।

5.रक्त में उपस्थित platelets cells घाव की जगह पर (at the site of injury) रक्त का थक्का (Blood clotting) जमाने में सहयता करती है ।

6. रक्त शरीर को संक्रमण से बचाता है क्योंकि इसके अंदर WBC पायी जाती है ।

7. Blood कोशिकाओं तथा ऊतकों को Oxygen और Nutrients Deliver  करता है।

 

 

 प्लाज्मा (Plasma) 

पीले रंग का हल्का गाढ़ा द्रव ।

 

Blood का 55% भाग बनाता है  जिसमें लगभग 90% जल होता है तथा अन्य पदार्थ पाये जाते है।

 

 प्लाज्मा का संगठन

1. प्रोटीन  – Albumin , Globulin , Fibrinogen
2. मिनरल्स
3. ग्लूकोज
4. CO2
5. आयन्स
6.  होर्मोन

 

 About प्लाज्मा

प्लाज्मा CO2 , हॉर्मोन्स एवं अपशिष्ट को ले जाने का काम करता है।

​इसका प्रमुख काम blood के Osmotic pressure (परासरण दाब)  को maintain करना है।

■ Palsma ही है जो आंतों से शोषित पोषक तत्वों को    शरीर के विभिन्न भागों तक पहुंचाता है ।

 

 प्लाज्मा में उपस्थित प्रोटीन के कार्य

1.  एल्ब्यूमिन –  यह रक्त प्लाज्मा की main प्रोटीन है जो कि Blood का osmotic pressure को maintain करती है।
बिना Albumin के रक्त की सांद्रता (Consistency) पानी के लगभग बराबर हो जायेगी।
यह रक्त में जल, कैटायन (जैसे Ca2+, Na+ और K+), वसा अम्ल, हार्मोन, बिलिरूबिन को बांध कर रखता है।

 

2. globulin – यह प्लाज्मा प्रोटीन शरीर को हानि पहुंचाने वाले कारकों ( infecting agents) से protect करती है। यह शरीर के Immune system के लिए आवश्यक protein है।
इन्हें immunoglobulins भी कहा जाता है।

 

3. फाइब्रिनोजन – इस प्लाज्मा प्रोटीन का निर्माण यकृत (Liver) में होता है जो कि रक्त का थक्का जमाने के लिए एक आवश्यक प्रोटीन है।

 

रुधिर कणिकाएँ (Blood carples) 

रक्त का 45% भाग बनाती है ।

 

1. Red Blood Corpuscles (Erythrocytes)
    (लाल रक्त कणिकाएं)

2. White Blood corpuscles (Leucocytes)
    (श्वेत रक्त कणिकाएं)

3. platelets (प्लेटलेट्स) / बिम्बाणु / Thrombocyte

 

1. RBCs  (लाल रक्त कणिकाएं)

 

Average संख्या in Human body  –

In Males =  5.4 Million per Microlitre

In Female = 4.8 Million per Microlitre

 

Size

Diameter – 7.5 µm

Thickness – 2 µm

 

Shape

गोलाकार (Biconcave)

 

जीवनकाल

120 days


 RBc का निर्माण -:

 

Erythropoiesis (एरिथ्रोपोईएसिस ) –   is the process by which new red blood cells are produced

~ Through this process red blood cells are continuously produced in the Red bone marrow of large bones.

In the embryo (भ्रूण) –  the liver (यकृत ) is the main site of red blood cell production.

~ The production can be stimulated by the hormone erythropoietin(EPO), synthesised by the kidney (वृक्क).

 

 In short

वयस्क में RBC का निर्माण  अस्थि मज्जा (Bone Marrow)  में होता है।

 # भ्रूण (Embryo) में RBc का निर्माण Liver में होता है।

 

RBC के निर्माण की प्रकिया एरिथ्रोपोईएसिस (Erythropoiesis)कहलाती है।

 

Erythro– RBC के लिए use Word

Poiesis – निर्माण होने की प्रक्रिया

 

About RBCs

 

1. RBCs  के अंदर केन्द्रक नहीं पाया जाता ।

2 .RBC के अंदर हीमोग्लोबिन (एक प्रकार का वर्णक) पाया जाता है जो कि RBCs को लाल रंग प्रदान करता है ।

3. RBC शरीर में ऑक्सीजन के वहन (Transport) का कार्य करती है यानि यह ऊतक or अंगो तक oxygen पहुंचाती है।

 

 

WBCs ( श्वेत रक्त कणिकाएँ)  –

Greek Word –   Leuk – meaning “white”
cyte– meaning “cell”

 

Average संख्या  in human body


4000  – 11000  per microliter

 

✓Shape =


अनियमित आकार

 

जीवनकाल  (life span) =


Almost  2 -3  days

 

✓Colour  =


colourless Blood cells

 

WBCs का निर्माण =

 

इन सभी की उत्पत्ति और उत्पादन अस्थि मज्जा (Bone marrow) की एक मल्टीपोटेंट, हीमेटोपोईएटिक स्टेम सेल से होता है।


 About WBCs

 

1. इनमें केंद्रक पाया जाता है।

2.  इनमें हिमोग्लोबिन नहीं पाया जाता जिसके कारण ये Colourless होती है।

3. इसे शरीर का सिपाही के नाम से भी जाना जाता है।

4.  ये एंटीजन और एंटीबॉडी का निर्माण करती है जो प्रतिरक्षा तंत्र में भाग लेती है।

5. WBC शरीर को संक्रमण से बचाती है यानि ये प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity Defence Mechanism) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

6. WBC की संख्या RBC की तुलना में कम होती है।

 

WBC के प्रकार

इनमे पायी जाने वाली कणिकाओं (Granules)  के आधार पर ये 2 प्रकार की होती है

 

1. Granulocyte (कणिकीय)  – ये तीन प्रकार की होती हैं

(A).   Eosinophil 
(B).   Basophil 
(C).   Neutrophil

 

2. Agranulocyte (अकणिकीय)

ये दो प्रकार की होती हैं-

(A). Monocyte

(B). Lymphocyte

   ये  भी दो प्रकार की होती है  –

★  B-लिम्फोसाइट       ★ T-लिम्फोसाइट



Flowchart

 

 

 

 

Platelets ( Thrombocyte)
( बिम्बाणु) 



Average Number in Human body =

 

1 माइक्रोलीटर रक्त में 2,00,000 से 5,00,000 तक की संख्या में प्लेटलेट्स कोशिकाएं पाई जाती है

 

shape


अनियमित आकार की छोटी कोशिका

 

Size


Diameter = 2 – 4 µm

 

जीवनकाल (life span) =


लगभग  7 – 9 days

 

Platelets का निर्माण =

इनका निर्माण भी Bone marrow मेंहोता है। Bone Marrow के अंदर Megakaryocyte नामक बड़ी cells पायी जाती है जो कि प्लेटलेट्स का निर्माण करती है।

 

 ABOUT platelets

 

1.इनमें केन्द्रक (Nuclei) नहीं पाया जाता है ।

2. रक्त में उपस्थित बिम्बाणुओं का एक महत्त्वपूर्ण काम शरीर में उपस्थित हार्मोन और प्रोटीन उपलब्ध कराना होता है।

3. इनका सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है रक्त को बहने से रोकना (Hemostasis) यानि ये बिम्बाणु Blood clotting में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है ।

4.मुख्य कार्य

1.  Formation of blood clots
2.  prevention of bleeding

 

 

 

Categories: BiologyREET Exam

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *