Leaf  पारिस्थितिकी तंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।। पृथ्वी पर प्रत्येक जीव प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से पादपों पर निर्भर रहता है।

पौधे के विभिन्न भाग होते हैं जिनमे Leaf/पत्ती एक आवश्यक भाग है क्योंकि पादपों के जीवन के लिए आवश्यक भोजन का निर्माण पत्तियों में ही होता है

 

Leafपत्ती को  “पादप का Kitchen” कहा जाता है (भोजन निर्माण होने के कारण)

 
 

Leaf/पत्तियों के 2 मुख्य कार्य होते हैं -: 

 
प्रकाश संश्लेषण (Photosynthesis)
 
वाष्पोत्सर्जन (Transpiration)
 
 

Table of Contents 

 
संरचना (Structure)
भाग (Parts)
प्रकार (Types)
रूपांतरण (Modification)
कार्य (Function)
 
 

Structure of a Leaf/पत्ती की संरचना 

 
यह पर्वसन्धि पर विकसित होने वाली संरचना है।
पत्तियां रंग में हरी , पतली (Thin), सपाट संरचना हैं जो पौधों में प्रकाश संश्लेषण की क्रिया करती हैं तथा भोजन निर्माण करती है।
पत्तियां अलग-अलग आकार, आकृति व रंगों की हो सकती हैं।
 

 

Parts of a Leaf-:

पत्ती के 3 भाग हैं।

 

 
Leaf
Leaf Structure
 
 
 

● पर्णाधार (Leaf Base) -:

Leaf का वह भाग जिसके द्वारा वह  तने व शाखा से जुडी रहती है, उसे Leaf base कहते हैं।

 NOTE -:The leaf base is also called as Hypopodium.

 

 

● पर्णवृन्त (Petiole/ leaf stalk) -:

पत्ती में डंठल जैसे दिखाई देने वाले भाग को पर्णवृन्त कहते है।

 
पर्ण – पत्ती/leaf
वृन्त – डंठल
 
यह पत्ती को तने से जोड़ने वाली संरचना है ,यह पर्णफलक भाग को तने से जोड़ती है।
 

 NOTE -: The petiole part of the Leaf is also called as Mesopodium.

 
 

● पर्ण फलक  (Lamina/ Leaf blade) -:

यह बड़ा, चपटा व फैला हुआ भाग है  पर्णफलक के मध्य में धागेनुमा संरचना होती है जिसे  मध्यशिरा कहते है।  मध्यशिरा से अनेक शिराएँ(Veins) व शिराकाएँ निकलती है।  यह पत्ती को दृढ़ता प्रदान करती है तथा जल,खनिज लवण व भोजन आदि का स्थानांतरण का कार्य भी करती है।

Leaf के इसी भाग में Photosynthesis की क्रिया होती है।
पत्ती का सबसे चौड़ा भाग यही होता हैं।
 
शिराएँ (Veins) -: मध्यशिरा से अनेक धागे के जैसी संरचना निकलती है जिन्हें शिराएं कहते है, ये पत्ती को सहारा प्रदान करती है तथा जल व खनिज का परिवहन करती हैं।
 
 
शिराकाएँ  -: शिराओं से भी अनेक धागे के जैसी  संरचनाएं निकली होती है, जिन्हें शिराकाएँ कहते हैं।
 

 NOTE -: The lamina part of the leaf is called as Epipodium

 

Types of Leaves –:

पत्तियां मुख्यतः 2 प्रकार की होती है

 
(A) सरल पत्ती (Simple Leaf) -: सरल पत्ती का lamina भाग विभाजित नहीं होता।
उदाहरण : आम , बरगद , पीपल , अमरुद आदि।

 

 
(B) संयुक्त पत्ती (Compound Leaf) –: सँयुक्त पत्ती का Lamina भाग Leaflets में विभाजित होता है।
 
 

 

Modification of Leaf/पत्ती के रूपान्तरण 

 

1. भोजन संचय हेतु रूपान्तरण :- कुछ पादपों की पत्तियाँ भोजन संचय का कार्य करती है।
EX. – प्याज , लहसून ।
 
 
2. सहारा प्रदान करने हेतु रूपान्तरण :- शाकीय पादपों की पत्तियाँ सहारा प्रदान करने हेतु प्रतान में बदल जाती है।
EX. – मटर
 
 
3. पर्णाभवृन्त में रूपान्तरण :- कुछ पादपो की पत्तियों का पर्णवृन्त पत्ती की समान हरी संरचना में बदल जाता है तथा प्रकाश संश्लेषण कर भोजन का निर्माण करता है।
EX. – कैर
 
 
4. घड़े के आकार में रूपान्तरण :- कुछ पादपों में पत्तियों का पर्ण फलक घड़े में तथा पर्ण शिखाग्र उसके ढक्कन में रूपांतरित हो जाता है जो कीटो को पकड़ने में सहयोग करते हैं , ऐसे पादप कीटाहारी पादप कहलाते है।
EX. : घटपादप , ड्रोसेरा , वीनस फ्लाई ट्रेप, यूट्रीकुलेरिया ।
 
 
5. सुरक्षा हेतु रूपान्तरण :- अनेक पादपों में पत्तियाँ कांटो में बदल जाती है तथा सुरक्षा का कार्य करती है।
EX. : बैर , नागफनी, केक्ट्स ।

 

 

Functions of a Leaf

 
 
 प्रकाश संश्लेषण में सहायक -: पत्ती में होने वाली सबसे महत्वपूर्ण किया प्रकाश संश्लेषण है जिसके द्वारा पादप अपना भोजन बनाते है। पत्ती के अंदर हरितलवक पाया जाता है जिसमे क्लोरोफिल नामक वर्णक होता है जो कि प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ,यह प्रकाश ऊर्जा को रासायनिक ऊर्जा में बदल देता है जिससे पादप भोजन का निर्माण कर सके।
तथा पत्तियों को Green Color भी प्रदान करता है।
पत्ती में बना यह भोजन पूरे पौधे को फ्लोएम ऊतक पहुंचता है।
पौधों में यह भोजन स्टार्च के रूप में Store हो जाता है।
 
 
गैसों के परिवहन में सहायक -: पत्तियों की सतह पर रन्ध्र पाए जाते हैं, जिन्हें Stomata कहते हैं जो कि गैसों का आदान-प्रदान करते हैं तथा पानी का भी नियमन करते हैं ।
ये Stomata पत्ती की निचली सतह पर होते हैं।
 
 
भोजन संग्रह करने में सहायक-: कुछ पादप की पत्तियां भोजन का भी सँग्रह करतीं है।
 
सुरक्षा करने में सहायक -: कुछ पौधों की पत्तियां रूपांतरित होकर पौधे की सुरक्षा करती हैं।
 
 
 

Other Important Parts Of Leaf -: 

 
Margin -: पत्ती के किनारे वाला भाग margin कहलाता है।
 
Stipules -: छोटी Flap like संरचना जो कि पर्णवृन्त के आधार पर उगती है जो कि सुरक्षा का काम करती हैं।
 
 

 

Exam View 

 
1. प्रकाश संश्लेषण का कार्य पादप का कौनसा भाग करता है।
 (A). तना
 (B). पत्ती
 (C). जड़
 (D). कोई नहीं
 
ANSWER- (B) क्योंकि पत्ती के अंदर हरितलवक पाया जाता है जो प्रकाश संश्लेषण का काम करता है।
 
 
(2). निम्न में से पादपों में गैसीय आदान-प्रदान का कार्य करता है?
 (A). रन्ध्र
 (B).पर्णवृन्त
 (C).जाइलेम
 (D). फ्लोएम
 
ANSWER -: (A). रन्ध्र यानि Stomata जो कि पत्ती की निचली सतह पर होते है , गैसों का आदान-प्रदान करते हैं। 
 
 
 
(3). Leaf में क्लोरोफिल का क्या कार्य है?
ANS.. सूर्य की ऊर्जा यानि प्रकाश ऊर्जा को रासायनिक ऊर्जा में बदलना ।
 
 
 
(4). पत्ती के हरे रंग का कारण क्या है?
ANS. क्लोरोफिल की उपस्थिति
 
 
 

Categories: BiologyREET Exam

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *