Light (प्रकाश) – भौतिकी

Light

Spherical Mirror (गोलीय दर्पण)

A spherical mirror is a Mirror which has the shape of a piece cut out of a Spherical surface(गोलीय पृष्ठ).

 

There are two types of spherical mirrors :

● Concave Mirror 

● Convex Mirror 

 

Light

● Concave Mirror (अवतल दर्पण) –

जब गोलीय दर्पण का परावर्तक पृष्ठ अंदर की ओर वक्रीत हो |

Use :

  1. टोर्च, सर्च लाइट्स व वाहनों के Headlights में प्रकाश का शक्तिशाली समानांतर किरण पुंज प्राप्त करने में।
  2. Shaving Mirror में।
  3. Dentist द्वारा दांतों का बड़ा प्रतिबिम्ब देखने के लिए ।
  4. Solar Furnace(सौर भट्टी) में सूर्य के प्रकाश को केंद्रीत करने के लिए।

● Convex Mirror (उत्तल दर्पण) –

जब गोलीय दर्पण का परावर्तक पृष्ठ बाहर की ओर वक्रीत हो |

Use –

  1. Street Lamps में उत्तल दर्पण का प्रयोग किया जाता है क्योंकि ये प्रकाश को विस्तृत क्षेत्र में फैला देते हैं।
  2. वाहनों के Side-View दर्पणों में क्योंकि यह सदैव सीधा प्रतिबिम्ब बनाता है। जिससे कि चालक को पीछे से आ रहे ट्रेफिक और पीछे के विस्तृत क्षेत्र को देख पाता है।

 

 

समतल दर्पण –

  • समतल दर्पण से प्राप्त प्रतिबिम्ब सदैव आभासी तथा सीधा होता है।
  • प्रतिबिम्ब दर्पण के पीछे उतनी ही दूरी पर बनता है, जितनी दूरी पर दर्पण के सामने रखी हो।
  • प्रतिबिम्ब का आकार वस्तु के आकार के बराबर होता है।
  • किसी वस्तु की पूरी Image देखने के लिए दर्पण की जो ऊँचाई है वह वस्तु की ऊंचाई की आधी होनी चाहिए।
  • यदि कोई वस्तु दर्पण के सापेक्ष V चाल से गतिमान हो तो वस्तु और Image की सापेक्ष गति 2V होगी।

 

समतल दर्पण के उपयोग

  1. दैनिक जीवन मे समतल दर्पण का उपयोग Mirror के रूप में सर्वाधिक होता है।
  2. Kaleidoscope व periscope में उपयोग होता है।

 

Reflection of Light | प्रकाश का परावर्तन |

प्रकाश किरण का किसी चिकने पृष्ठ से टकराकर किसी कोण पर मुड़ जाना ,प्रकाश का परावर्तन कहलाता है।

 

Laws Of Reflection | परावर्तन के नियम |

  •  परावर्तन कोण(r) , आपतन कोण(i) के बराबर होता है।
  • आपतित किरण , दर्पण के आपतन बिंदु पर अभिलम्ब तथा परावर्तित किरण सभी एक ही तल में होते हैं।

 

Light Important Question For Exams :

◆ सूर्य से पृथ्वी तक पहुंचने में प्रकाश द्वारा लिया गया समय
– लगभग – 8 मिनट 20 सेकंड

 

◆ चन्द्रमा से परावर्तित प्रकाश(light) को पृथ्वी तक आने में लगा समय
– लगभग – 1.28 सेकंड

 

◆ प्रकाश की तरंगदैर्ध्य बदलने(एक माध्यम से दूसरे माध्यम में जाने पर) पर प्रकाश की चाल भी बदल जाती है।

 

◆ प्रकाश की आवृत्ति प्रकाश स्रोत पर निर्भर करती है और माध्यम बदलने पर भी उसी रूप में बनी रहती है।

 

◆ प्रकाश कण व तरंग दोनों रूप में होता है इसे प्रकाश का Dual Nature कहा जाता है। यानि कि Light कण व तरंग दोनों की तरह व्यवहार करती है।

 

◆ प्रकाश का क्वांटम सिद्धान्त आईंस्टीन ने 1905 में दिया।
इन्होंने कहा प्रकाश ऊर्जा बंडलों के रूप होता है, जिन्हें “फोटॉन” कहा गया।

 

◆ आभासी प्रतिबिम्ब को पर्दे पर प्राप्त नहीं किया जा सकता।

 

◆ वास्तविक प्रतिबिम्ब को पर्दे पर प्राप्त किया जा सकता है।

 

Refraction of Light  (अपवर्तन) : 

जब प्रकाश एक माध्यम से दूसरे माध्यम में तिरछा प्रवेश करता है तो दूसरे माध्यम में इसके संचरण की दिशा परिवर्तित हो जाती है इस परिघटना को प्रकाश का ‘अपवर्तन ‘ (Refraction) कहते हैं।

प्रकाश के अपवर्तन का कारण विभिन्न पारदर्शी माध्यमों में प्रकाश की चाल का अलग-अलग होना है।

 

  • जब प्रकाश विरल माध्यम से सघन माध्यम में जाता है तो प्रकाश किरण अभिलंब की ओर झुक जाती है।
  • जब प्रकाश सघन से विरल में जाता है तो प्रकाश किरण अभिलंब से दूर हट जाती है।

 

अपवर्तन एक माध्यम से दूसरे में जाने वाली तरंग की दिशा में होने वाला परिवर्तन है।

 

Effects of Refraction :

  1. तारों का टिमटिमाना प्रकाश के अपवर्तन के कारण होता है।
  2. Mirage और looming ऑप्टिकल भ्रम (optical illusions) हैं जो प्रकाश के अपवर्तन का परिणाम हैं।
  3. जल से भरे किसी बर्तन अथवा तालाब आदि की पेंदी वास्तविक गहराई से कुछ ऊपर उठी हुई प्रतीत होती है।
  4. एक स्विमिंग पूल हमेशा वास्तव में उथला(shallower) दिखता है क्योंकि पूल के नीचे से आने वाला प्रकाश प्रकाश के अपवर्तन के कारण सतह पर झुकता है।
  5. प्रकाश के अपवर्तन के कारण ही सूर्य , वास्तविक सूर्योदय से कुछ पहले ही दिखाई देने लगता है तथा वास्तविक सूर्यास्त के कुछ देर बाद तक दिखाई देता है।

Light

 

वास्तविक सूर्यास्त व आभासी सूर्यास्त में लगभग 2 min का अंतर होता है।

 

QUIZ :

3
Created by reetprep

Physics : Light

Practice Quiz

परिदर्शी(Periscope) किस सिद्धान्त पर काम करता है?

सूर्योदय व सुर्यास्त के बाद भी सूर्य अल्प समय के लिए दिखाई देता है, ऐसा होने का कारण है -

वाहन में पीछे से आने वाली वस्तुओं को देखने के लिये किसका उपयोग किया जाता है?

किसी वस्तु का आवर्धित और आभासी प्रतिबिम्ब प्राप्त करने के लिये उपयोग में लाया जाता है?

जल के अंदर पड़ी मछली की आभासी गहराई का वास्तविक गहराई से कम दिखाई देना उदहारण है -

Your score is

The average score is 67%

0%

 

 

4
Created by reetprep

Science Quiz

Science Quiz

10 MCQs

1 / 10

जीवाश्म ईंधन का जलना -

2 / 10

कार्बन डाई ऑक्साइड की कुल मात्रा है?

3 / 10

निम्न में से चेचक का टीका किसने विकसित किया?

4 / 10

अग्नाशय की बीटा कोशिकाएं किस हॉर्मोन का स्राव करती हैं?

5 / 10

 Ampulla को गर्भाशय गुहा से जोड़ने वाली संरचना है?

6 / 10

न्यूट्रॉन व प्रोटोन के संख्याओं के योग को कहा जाता है?

7 / 10

 निम्न में से कौनसा एक यौगिक/ Compound है?

8 / 10

 निम्न में से कौनसा एक डाईसेकेराइड है?

9 / 10

ऐसे तत्व जिनमे धातु व अधातु दोनों के गुण पाए जाते हैं?

10 / 10

किस तत्व की कमी से घेंघा रोग हो जाता है?

Your score is

The average score is 45%

0%

 

 

Read More :

Rajasthan High Court Vacancy 2020 Notification | Full details |

RRB NTPC Syllabus | Exam Pattern | Vacancies

Rajasthan Patwari Exam Syllabus 2020

KVS Exam Syllabus, Pattern

NVS

REET Syllabus