Plant Seeds – बीज

आवृतबीजी पौधों (Angiospermic plants) में लैंगिक जनन का अंतिम परिणाम बीज (Seeds) के रूप में होता है जिसके अंदर भ्रूण उपस्थित होता है जो कि प्रसुप्त अवस्था (Dormant stage) में होता है।

एक विशालकाय पौधे का निर्माण बीज/Seed के अंदर उपस्थित भ्रूण (embryo) से ही होता है जो कि अंकुरण के बाद Seedling (नया पादप/लघु पादप)  का निर्माण करता है।

बीज का निर्माण Ovule यानि बीजांड से होता है।

 

Seeds(बीज) –

Seed  एक पौधे का एक महत्वपूर्ण भाग होता है जो कि एक नए पौधे को जन्म देता हैं। बीज आकार, आकृति व रंगों में अलग-अलग प्रकार के हो सकते हैं।Seed सुषुप्त अवस्था(dormant condition)मे पड़े रहते हैं जब तक कि उन्हें उचित Sunlight, पानी तथा उगने के लिए उचित Condition नहीं मिल जाती। एक बीज से पौधे की वृद्धि होना अंकुरण (germination)कहलाता है जो कि बीज को Grow करने के लिए अनुकूल परिस्थितियों में होता है।

 

seeds Part

बीज के निम्न भाग होते हैं।

  1. बीज आवरण (Seed Coat)
  2. भ्रूणपोष (Endosperm)
  3. भ्रूण (Embryo)

 

(1). बीज आवरण (Seed Coat) 

Seed का आवरण Seed के अंदर उपस्थित भागों की रक्षा करता है जो कि एक महत्वपूर्ण कार्य है।
Seed के आवरण में दो layer उपस्थित होती है : बाहरी परत जो कि मोटी होती है उसे “Testa (टेस्टा)” कहा जाता है
तथा अंदर की परत जो कि पतली होती है उसे “Tegmen(टेगमेन)” कहा जाता है।

Seed Coat की जो बाहरी परत होती है वह बीज को Parasites यानि कीटों के प्रवेश से बचाती है तथा प्रतिकूल परिस्थितियों में बीज के अंकुरण को रोकती है।

अतः यह बीज का एक महत्वपूर्ण भाग है।

 

(2). भ्रूणपोष (Endosperm) 

Endoderm के अंदर पोषक होते है जो Seed को अंकुरण के दौरान कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन व स्टार्च के रूप में पोषण प्रदान करते हैं यह Seed coat के नीचे उपस्थित होता है।
अर्थात यह Seed को भोजन प्रदान करने वाली संरचना है।

यह आवृत्त बीजी पौधों का लक्षण है जो सभी आवृत्तबीजी/Angiosperms में बनता है
लेकिन यह  आर्किडेसी (Orchidaceae), पोडोस्टोमिनेसी (Podostominaceae), ट्रापैसी (Trapaceae)  कुलों में नहीं बनता यानि कि ये Family अपवाद हैं।
भ्रूणपोष बढ़ते हुए भ्रूण को पोषण प्रदान करता है।

 

(3). भ्रूण (Embryo)

यह द्विगुणित होता है जो निषेचित Egg से विकसित होता है यह seed का सबसे महत्वपूर्ण भाग है।
बीज का मुख्य भाग भ्रूण(Embryo) होता है, जो वास्तव मे सम्पूर्ण पौधे को बनाता है।

भ्रूण के अंदर निम्न भाग present होते हैं 

Epicotyl (बीजपत्रोंपरिक) यह तने का भाग है जो कि बीजपत्र (Cotyledons) के ऊपर की तरफ़ विकसित होता है।
Hypocotyl (बीजपत्रधार) यह बीजपत्र के नीचे विकसित होता है इसीलिये जब यह Grow करता है तो Seed को ऊपर की तरफ़ आने में मदद मिलती है।
( it Pushes The Seed to move Upwards )
Radicle (मुलांकुर) रेडिकल छोटी भ्रूणीय जड़ (Embryonic Root) होती है। यही प्राथमिक जड़ें हैं।
plumule (प्राकुंर) जो कि तने (Stem) का निर्माण करता है।
Cotyledons (बीजपत्र) यह भ्रूण के विभिन्न भागों को पोषण देता है यह बीज से छोटी पत्तियों के रूप में जमीन से बाहर निकलते हैं (बीज की वृद्धि के दौरान यानि जब बीज अंकुरित होता है) तथा इनके अंदर भोजन का सँग्रह रहता है स्टार्च के रूप में।

Learning Tip from reetprep : 

कुछ Biology Terms को आप English में ही याद रखने की कोशिश करें ताकि Exam में आपको किसी तरह का कोई Confusion ना हो।

Types of Seeds 

1. एकबीजपत्री बीज (Monocotyledonous seeds)
2. द्विबीजपत्री बीज  (Dicotyledonous seeds)

(1). एकबीजपत्री बीज 
    (Monocot Seeds)  
(2). द्विबीजपत्री बीज 
       (Dicot Seeds) 
जिन बीजों में एक बीजपत्र पाया जाता हैं उन्हें एकबीजपत्री बीज कहा जाता है जिन बीजों में 2 बीजपत्र पाये जाते है उन्हें द्विबीजपत्री बीज कहा जाता है।
बीज के अंकुरित होने पर ये जो बीजपत्र (cotyledon) होते हैं वही विकसित होकर पौधे के पत्तों (Leaf) का रूप लेते हैं।

Ex. चावल, गेंहू, आम, सरसों

Ex. गन्ना, बांस 

 

Note -: द्विनिषेचन के बाद से ही भ्रूण तथा भ्रूणपोष के  Development के साथ-साथ अंडाशय(Ovary) तथा अन्य भागों में कई प्रकार के परिवर्तन होते हैं जिससे की अंडाशय (Ovary) से फल (Fruit) तथा इनके अंदर जो बीजांड (Ovule) होते हैं उससे Seed का निर्माण हो जाता है।

 

Other Important 

बहुभ्रूणता (Polyembryony) -: 

एक बीजांड (Ovule) के अंदर सामान्यतः एक ही भ्रूण बनता है लेकिन कभी-कभी एक से अधिक भ्रूण/Embryo भी बन जाते है जिसे Polyembryony कहा जाता है।

 

Cotyledon (बीजपत्र) -: 

पत्र – पत्ता

यह बीज का वह भाग है जो कि seed के अंकुरित (Germination) होने पर पत्ती के रूप में विकसित होता है।
हो सकता है कि यह एक पत्ती के रूप में Develop हो (Monocot/एकबीजपत्री) या दो पत्ती के रूप में (Dicot/द्विबीजपत्री)

बीजपत्र की संख्या एक मुख्य विशेषता है जिसके आधार पर  Botanists  पुष्पीय पादपों (flowering plants) को Classify करते हैं।

 

बीजांडद्वार(Micropyle) -: 

बीज में एक छोटा छिद्र होता है जिसे जिससे मुलांकुर (Radicle) भाग निकलता है।

 

Seeds MCQs

seeds questions

Que. Flower के किस भाग से बीज का निर्माण होता है?
Ans. पुष्प के अंडाशय (Ovule) वाले भाग से Seed का निर्माण होता है।

 

Que. बीज के बाह्य आवरण को कहते हैं?
(A). टेस्टा
(B). टेगमेन
(C). दोनों
(D). उपरोक्त में से कोई नहीं

Ans. (A) Seed की बाहरी परत जो कि मोटी होती है उसे ‘Testa (टेस्टा)” कहा जाता है।

 

Que. बीज के अंकुरण के दौरान विकसित होने वाला सबसे पहला भाग है? 
(A). Hypocotyl
(B). Epicotyl
(C). Radicle
(D). निम्न में से कोई नहीं

Ans. (C) Radicle (मुलांकुर) जो कि जमीन के नीचे की तरफ विकसित होता है।

 

Que. बीज को पोषण प्रदान करने वाली संरचना है?
Ans. भ्रूणपोष (Endosperm) Develop हो रहे भ्रूण को पोषण प्रदान करता है।

 

Que. बीज को प्रतिकूल परिस्थितियों से बचाने के लिए बीज की कौनसी संरचना काम आती है?
Ans. बीज आवरण (Seat Coat) बीज को प्रतिकूल परिस्थितियों से बचाने का काम करता है।

 

Que. एकबीजपत्री बीज के कोई 2 उदाहरण बताएं? 
Ans. (1). चावल (Rice),
(2). गेहूं (Wheat)

 

Que. प्राथमिक जड़ यानि Radicle बीज के किस भाग से निकलती है? 
Ans. बीजांड द्वार से (Micropyle) ही प्राथमिक जड़ें निकलती हैं।

 

Que. Seed के सभी भाग कौन- कौन से है?
Ans. (1). बीजावरण – Seed Coat
(2). भ्रूणपोष – Endosperm
(3).  भ्रूण – Embryo

 

Que. बीजों में एक छोटा छिद्र पाया जाता है ,इसका बीजों में क्या कार्य है?
Ans.  बीजों में यह छोटा छिद्र मिनरल्स ,पानी को ग्रहण करता है जो कि बीज की वृद्धि के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि जब बीज को Grow करने के लिए अनुकूल परिस्थितियां मिलती है तब इसी छिद्र कर माध्यम से पानी, मिनरल्स बीज में Enter करता है तथा बीज विकसित होकर एक नया Plant बना लेता है।

 

 

 

 

 

Our Email I’d -: reetprep@gmail.com
(you Can Send Us Your Suggestions and Feedback)

 

www.reetprep.com 
(Best & Authentic Content)

 

Read More

 

 

 

 

 

Leave a Comment