Sound Waves – Types, Introduction, Characteristics

 

 

Sound/ध्वनि :

ध्वनि ऊर्जा का ही एक रूप होता है जो कि तरंग रूप में संचरित होती है । ध्वनि की उत्पत्ति वस्तुओं के कम्पन्न से होती है लेकिन सभी कम्पन्नों को ध्वनि नहीं कहा जा सकता जिन कम्पन्नों की अनुभूति हमे कानों के द्वारा होती है तथा जिन्हें हम सुन सकते हैं उसे Sound/ध्वनि कहा जाता है।

हमारे बोलने की Sound फेफड़ों से आने वाली वायु द्वारा हमारे गले मे स्थित वाक्यंत्रो के वाक़तन्तुओं में कम्पन्न से पैदा होती है।

 

Sound Waves

 

Sound Waves/ध्वनि तरंग -
  1. Sound Waves/ध्वनि तरंग यांत्रिक अनुदैधर्य तरंगे होती है।
  2. यांत्रिक होने के कारण इन्हें संचरण के लिए माध्यम की आवश्यकता होती है।
  3. ये तरंगे सभी माध्यमों में गति कर सकती है : जैसे – ठोस, द्रव, गैस
  4. ध्वनि का वेग गैसों में सबसे कम , द्रवों में अधिक तथा ठोस माध्यम में सर्वाधिक होता है।
  5. विभिन्न माध्यमों में ध्वनि की चाल अलग-अलग होती है।
  6. ध्वनि की चाल मुख्यतः माध्यम की प्रत्यास्थता व घनत्व पर निर्भर करती है।
  7. ध्वनि किसी भी माध्यम में अनुदैधर्य तरंगों के रूप में चलती है।

 

  निर्वात में ध्वनि का संचरण नहीं हो पाता (माध्यम की अनुपस्थित की कारण) यानी कि वायुमण्डल नहीं रहता।

 

Que.अंतरिक्ष यात्री चन्द्रमा के धरातल पर एक दूसरे की बात नहीं सुन पाते क्योंकि-
Ans. निर्वात में ध्वनि का संचरण नहीं हो पाता (माध्यम की अनुपस्थित की कारण) यानी कि वायुमण्डल नहीं रहता।
यही कारण है कि अंतरिक्ष यात्री चन्द्रमा के धरातल पर एक दूसरे की बात नहीं सुन पाते।

 

 

Types Of Sound Waves/ध्वनि तरंगों के प्रकार -

1). Infrasonic Waves/अवश्रव्य तरंगे
2). Audible Waves/श्रव्य तरंगे
3). Ultrasonic Waves/पराश्रव्य तरंगे

 

1). Infrasonic Waves/अवश्रव्य तरंगे –

20 Hz से नीचे की आवृत्ति वाली ध्वनि तरंगों को अवश्रव्य तरंगे कहा जाता है । इन तरंगों को मनुष्य नहीं सुन सकता।
इन तरंगों की तरंगदैर्ध्य अधिक होती है।
ये भूकंप के समय पृथ्वी के अंदर उत्पन्न होती है।
इन तरंगों को बहुत आकार के स्रोतों से उत्तपन्न किया जा सकता है।
Ex.
ज्वालामुखी
भूस्खलन आदि से

 

2). Audible Waves/श्रव्य तरंगे :

20 Hz से 20,000 Hz के बीच की आवृति वाली तरंगों को श्रव्य तरंगे कहते हैं। इन तरंगों को मनुष्य द्वारा सुना जा सकता है।

 

3). Ultrasonic Waves/पराश्रव्य तरंगे :

20,000 Hz से अधिक आवृति वाली तरंगों को पराश्रव्य तरंगे कहते हैं। इन्हें मनुष्य कानों से नहीं सुन सकता लेकिन कुछ जानवर जैसे कुत्ता, बिल्ली चमगादड़, बन्दर, हिरण, डॉल्फिन, तेंदुएं इन्हें सुन सकते हैं।

  • समुद्र गहराई का पता लगाने के लिए Ultrasonic Waves
    का उपयोग
  • कारखनो की चिमनियों से कालिख हटाने में।
  • कई Diagnostic Techniques जैसे कि ultrasound मशीन , ECG , सोनोग्राफी आदि में उपयोग।

 

 

Characteristics Of Sound/ध्वनि के लक्षण
  1. तीव्रता व प्रबलता/Intensity and Loudness
  2. तारत्व/Pitch
  3. गुणता/Timbre

 

तीव्रता व प्रबलता/Intensity and Loudness :

  • कान तक प्रति सेकण्ड पहुंच रही ध्वनि ऊर्जा की माप होती है।
  • Sound की प्रबलता ध्वनि तरंगों के आयाम पर निर्भर करती है।
  • ध्वनि की प्रबलता डेसीबल(db) में मापी जाती है।

 

 

तारत्व/Pitch :

  • ध्वनि का वह अभिलक्षण जिसके द्वारा समान प्रबलता की विभिन्न ध्वनियों के बीच विभेद कर सकते हैं।
  • ध्वनि का तारत्व कम्पन्न की आवृत्ति पर निर्भर करता है।
  • ध्वनि की जितनी अधिक आवृत्ति होती है, उसका तारत्व भी उतना ही उच्चतर होता है।

 

गुणता/Timbre :

  • ध्वनि का वह लक्षण जो समान आवृत्ति एवं तीव्रता की ध्वनि में अंतर प्रतीत करता है।
  • यदि अलग-अलग व्यक्ति समान आवृत्ति व तीव्रता की आवाज उत्पन्न करें तो ध्वनि की गुणता के कारण की हम आवाज को अलग-अलग पहचान सकते हैं।
  • ध्वनि की गुणता के कारण ही हम बिना देखे परिचितों की आवाज व दो वाद्ययंत्रों से उत्पन्न समान तीव्रता एवं समान आवृत्ति की ध्वनि स्पष्ट रूप से पहचान लेते हैं।

 

ध्वनि पर दाब का प्रभाव :
दाब बढ़ने पर ध्वनि की चाल पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता(जब ताप समान हो)

 

ध्वनि पर ताप का प्रभाव :
माध्यम का ताप बढ़ने पर Sound की चाल बढ़ती है ।
माध्यम में 1℃ ताप बढा दिया जाए तो ध्वनि की चाल 0.61 m/s बढ़ जाती है।
वायु के वेग की दिशा में ध्वनि की चाल बढ़ती है।

 

 

Frequently Asked Questions on Sound(ध्वनि)

1.ध्वनि तरंगे निम्न में से किसमें होकर नहीं गुजर सकती हैं?
हवा में रखा हुआ तांबे का तार
हवा में रखी हुई चांदी की पट्टी
पानी मे रखा हुआ कांच के प्रिज़्म
निर्वात में रखा हुआ लकड़ी का खोखला पाइप/

 

2.मनुष्य कितने Hz की ध्वनि सुन सकता है?
10 – 50,000 हर्ट्ज
20 – 20,000 हर्ट्ज
100 – 200 हर्ट्ज
400 – 800 हर्ट्ज

 

3.सामान्य TV रिमोट कंट्रोल में उपयोग की जाने वाली तरंगे है?
पराबैंगनी तरंगे
अवरक्त किरणे
Y-किरणें
X-किरणें

 

4.निम्न में से किसका ध्वनि के वेग पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता?
दाब
तापमान
घनत्व
आर्द्रता

 

5.WHO के अनुसार एक नगर के लिए सुरक्षित ध्वनि प्रदूषण स्तर है?
45 db
55 db
70 db
90 db

 

6.कुछ जन्तु भूकंप आने से पहले व्याकुल हो जाते हैं , इसका क्या कारण है?
कुछ जन्तु भूकंप आने से पहले व्याकुल हो जाते तथा इधर उधर भागने लगते है क्योंकि मुख्य प्रघाती तरंगों से पहले , भूकंप निम्न आवृत्ति की Infrasonic Waves/अवश्रव्य तरंगे उत्तपन्न करते हैं तथा कुछ जन्तु इन्हें सुन सकते हैं तथा व्याकुल हो जाते हैं।

 

7.वायु में ध्वनि का वेग कितना होता है?
332 m/s
300 m/s
290 m/s
400 m/s

 

8.यदि वायु के दाब को दोगुना कर दिया जाए तो ध्वनि के वेग पर क्या प्रभाव पड़ेगा ?
ध्वनि का वेग 332 m/s ही रहेगा।

 

 

Also Read

Detailed Concept Of Pressure With Examples

Heat : Introduction and Classification

 

Heat : Introduction and Classification

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment