What is Force(बल)? – Definition, Unit, Types, Formula ..

 

सामान्य शब्दो मे बात की जाए तो अभिकर्षण(खींचना) या अपकर्षण(धक्का देना) को ही Force कहते हैं। बल एक सदिश राशि/Vector Quantity है। बल एक साधन है जिसके द्वारा स्थिर वस्तुओं की स्थिति, दिशा, गति व आकार में परिवर्तन किया जा सकता है।

 

Force(बल)

जैसे –

  • बल्लेबाज के द्वारा बैट से गेंद की दिशा बदल देना
  • रुई की गद्दी पर बैठने पर उसकी आकृति में बदलाव होना
  • किसी स्थिर फुटबॉल को किक मारकर गतिशील बनाना ।

 

वस्तु पर लगाया गया बल –
गति की दिशा में है – गति बढ़ती है
यदि विपरीत दिशा में है – गति कम होती है।

F = ma

जहां – 

m – द्रव्यमान
a – त्वरण

N = Kg.m/s2

 

 

Units of Force/बल के मात्रक :

SI पद्धति में – न्यूटन

MKS पद्धति में – न्यूटन

CGS पद्धति में – डाइन

FPS पद्धति में – पाउंड

N = Kg.m/s2

1 Kg = 9.8 m/s2

 

Types Of Force/ बलों के प्रकार

  1. सम्पर्क बल/Contact
  2. असम्पर्क बल/Non-Contact

 

 

1.) Contact Force(सम्पर्क बल) :

वह बल जिसमे 2 वस्तुएं परस्पर भौतिक सम्पर्क अर्थात Physical Contact में आती हैं।

A). पेशीय बल (Muscular Force) – जीवों की मांसपेशियों द्वारा किसी वस्तु पर लगाया जाने वाला Force
Ex. बैल द्वारा बैलगाड़ी पर लगाया गया Force, श्वसन क्रिया में फेफड़ें का फैलना व सिकुड़ना ।

 

B).घर्षण बल(Frictional Force) – दो वस्तुओं की सम्पर्क सतहों के बीच लगने वाला ऐसा अदृश्य बल जो दोनो वस्तुओं की सापेक्ष गति का विरोध करता है।
घर्षण बल सम्पर्क में आने वाले पृष्ठ की प्रकृति पर निर्भर करता है ।
पृष्ठ बहुत चिकना – घर्षण बल कम
पृष्ठ खुरदरा – घर्षण बल अधिक
Ex. दियासलाई में भी घर्षण के सिद्धान्त का उपयोग किया जाता है

Note- Friction Force ऐसा बल है जिसके नहीं होने पर रेलगाड़ी या फिर धरातल पर चल रहे वाहन को अचानक ब्रेक लगाकर नहीं रोका जा सकता।

 

2.) Non-Contact Force(असम्पर्क बल) –

दो वस्तुओं के परस्पर भौतिक सम्पर्क में आये बिना लगने वाला बल ।

A).गुरुत्वाकर्षण बल(Gravitational Force)
B).स्थिर -वैद्युत बल (Electrostatic Force)
C).चुम्बकीय बल(Magnetic Force)

 

A).गुरुत्वाकर्षण बल(Gravitational Force) – ब्रह्मांड के सभी पदार्थ एक दूसरे को अपनी ओर खीचते है अर्थात बल लगाते हैं।
किसी वस्तु का चंद्रमा पर भार पृथ्वी पर वस्तु के भार का 1/6 होता है।
Example :-
Earth – 60kg
Moon – 10 kg

गुरुत्वीय त्वरण(g)  का मान : 9.8 m/s2

गुरुत्वाकर्षण नियतांक(G) का मान : 6.67*10-11 Nm2/kg2

 

g का न्यूनतम मान – भूमध्य रेखा पर (Equator)
g का अधिकतम मान – ध्रुवों पर (Poles)

 

  • गुरुत्वीय त्वरण (g) का मान द्रव्यमान पर निर्भर नहीं करता यानि कि अलग-अलग द्रव्यमानों की 2 वस्तुएं मुक्त रूप से (वायु की अनुपस्थिति में ) ऊपर से गिराई जाए तो उनमें समान त्वरण उत्पन्न होगा ।
  • अर्थात समान ऊंचाई से एक साथ गिरने वाली वस्तु पृथ्वी पर एक ही साथ पहुँचेगी।
  • वायु की उपस्थिति में में वस्तु पर श्यान कर्षण(Viscous Drag) तथा उत्प्लावन प्रभाव(Buoyancy Effect) पड़ता है ,इस स्थिति में भारी वस्तुओं का त्वरण हल्के वस्तुओं की अपेक्षा अधिक होगा । (भारी वस्तु पहले पृथ्वी पर पहुंचेगी)

 

 

B). स्थिर -वैद्युत बल (Electrostatic Force) – दो स्थिर बिंदु आवेशों के मध्य लगने वाला बल Electrostatic Force कहलाता है।
स्थिर -वैद्युत बल विपरीत आवेशों के बीच Attractive होता है तथा समान आवेशों के बीच Repulsive होता है।

 

C). चुम्बकीय बल(Magnetic Force) – दो चुम्बकीय ध्रुवों के बीच लगने वाला बल चुम्बकीय बल कहलाता है।

 

 

 

Frequently Asked Questions On Force:

१. न्यूटन कितने डाइन के बराबर होता है?
105 डाइन
106 डाइन
107 डाइन
108 डाइन

 

२.निम्न में से सम्पर्क बल का उदाहरण है?
पेशीय बल
चुम्बकीय बल
गुरुत्वाकर्षण बल
निम्न में से कोई नहीं

 

३.बल का मात्रक है?
पास्कल
डेसीबल
न्यूटन
ओम

 

4. गुरुत्वीय त्वरण(g)  का मान कितना होता है ?
9.2 m/s2
8.9 m/s2
9.8 m/s2
10.8 m/s2

 

5.किसी वस्तु का चंद्रमा पर भार पृथ्वी पर वस्तु के भार का कितना होता है।
1/2
1/3
1/5
1/6

 

 

 

 

Also Read

Sound Waves – Types, Introduction, Characteristics

Heat : Introduction and Classification

Detailed Concept Of Pressure With Examples

 

Detailed Concept Of Pressure With Examples

 

 

Sound Waves – Types, Introduction, Characteristics

 

 

 

 

 

 

Visit reetprep for all Physics related queries and study materials

 

 

 

 

 

Leave a Comment